कब, कहाँ और कैसे हथौड़ा मारना चाहिए, ये शायद मुझे ही पता है – एक बुजुर्ग अनुभवी भारतीय

एक फैक्ट्री में एक इंजन ख़राब हो गया, बहुत सारे इंजीनियरों को बुलाया गया पर कुछ नहीं हुआ. फैक्ट्री को हर दिन लाखों रुपये का Loss हो रहा था.
एक दिन सारे इंजीनियर एक चाय की दुकान में बैठ कर इस Problem को discuss कर रहै थे, वहां बैठा एक बूढ़ा व्यक्ति सारी बातें सुन रहा था. उस बूढ़े व्यक्ति ने कहा – इंजीनियर साहब, क्या मैं वो इंजन देख सकता हूँ. सबने कहा – अरे ताऊ जब हमसे कुछ नहीं हुआ तो तुम क्या कर लोगे।
फिर भी बूढ़े व्यक्ति की जिद पर उनको इंजन दिखा दिया गया.
उस बूढ़े व्यक्ति ने एक मिनट सब कुछ देखा और फिर एक हथौड़ा माँगा।
(“Life doesn’t change in ONE MINUTE, but taking decision after thinking for ONE MINUTE can change life.”)
बस एक ही हथौड़ा मारा होगा उस बूढ़े व्यक्ति ने कि इंजन चालू हो गया.
सब लोग खुश.
उनसे पूछा गया कि कितने पैसे देने हैं, तो बूढ़े व्यक्ति ने कहा 1 लाख रुपये।
ये सुनकर 3 – 4 लोगों को तो चक्कर आ गया. जब उनसे बोला गया कि आपने करा ही क्या है, एक हथौड़ा ही तो मारा है.
तो उन बूढ़े व्यक्ति का जवाब सुनकर शायद सबका सिर चकरा गया होगा, उन्होंने कहा ” बेटा, हथौड़ा तो एक ही मारा है, पर कब, कहाँ और कैसे हथौड़ा मारना चाहिए, ये शायद मुझे ही पता है.

whatsapptrollingjokes.com
(Effort is important, but knowing where to make an effort in your life, makes all the difference.)
सार ये है कि :-
– हम इंसानों की समस्या है कि हम दूसरों के अनुभव (Experience), न तो लेते हैं, न ही किसी की सुनते हैं, न ही सुनना चाहते है, Self EGO से ग्रस्त हैं हम सब और अगर समस्या का समाधान पूछते भी है तो अपनी ही age group या अपने ही साथ के दोस्त से. सोचिये आपके साथ वाले को भी तो लगभग उतनी ही knowledge होगी।
– यहाँ पर आप लोग ही बताइये कि कितने लोग अपनी Family के बड़े बुजुर्गों या पड़े लिखे लोगों से उनका Experience लेते हैं ?
– हफ्ते में कितनी बार आप अपने माता – पिता, दादा – दादी या और कोई बुजुर्ग रिस्तेदार, दोस्त, पुराना Experienced साथी की मदद लेते हैं ?
– दोस्तों हर समस्या का हल है, अगर आपके पास उस समस्या का हल नहीं है तो इस ग़लतफ़हमी में मत रहिये कि आपके अपने भी उस समस्या का हल नहीं निकाल सकते, यकीन मानिये वो लोग अपने Experience से उस समस्या का हल चुटकियों में निकल देंगे। यहाँ सबसे बड़ी समस्या हम Young पीढ़ी की यह है कि, हम ये समझते हैं कि अगर हमने उन लोगों से अपनी problem discuss की तो वो लोग क्या कहै ंगे, पता नहीं क्या सोचेंगे……
अरे भाई Tension मत लो तुम एक चीज पूछगे वो लोग अपने Experience से 10 solutions बता देगें और एक फायदा और हो जायेगा, आप लोगों में अपनापन भी बढ़ेगा ……
– मेहनत तो दुनिया में हर कोई कर रहा है, इसमें हम अपने आप के अंदर ये ग़लतफ़हमी न पालें कि दुनिया में मेहनत सिर्फ और सिर्फ हम ही कर रहै हैं.
– सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण बात है कि मेहनत कब करनी है और दिमाग कब लगाना है ये पता होना चाहिए, जैसे कि ऊपर वाली कहानी में सभी इंजीनियर परेशान होने के बावजूद, उस कंपनी के पुराने इंजीनियर या है ल्पर से सलाह लेते तो शायद काम बहुत जल्दी हो जाता।
हाँ सबसे आखरी और सबसे महत्वपूर्ण बात, दोस्तों हम किसी का Experience पैसों से नहीं खरीद सकते, पर प्यार से पूछने पर वो लोग तुम पर अपना Experience न्योछावर कर देंगे। विश्वास नहीं होता तो कर के देख लो, इसमें बुराई क्या है……..

Leave a Reply